मध्य प्रदेश के प्रसिद्ध नगर व स्थलों के उपनाम , नगरों/स्थलों की प्रशिद्धि के कारण

No comments
[मध्य प्रदेश के प्रसिद्ध  नगर व स्थलों के उपनाम ]:=
.जबलपुर =संगमरमर नगरी।
.भेड़ाघाट =संगमरमर की चट्टाने।
.भिंड-मुरैना =बागियों का गढ़।
.उज्जैन =मंदिरो मूर्तियों का नगर।
.उज्जैन =महाकाल की नगरी।
.खजुराहो =शिल्पकला का तीर्थ।
.भीम बेटका =शैल चित्रकला।
.साँची =बौद्ध जगत की पवित्र नगरी।
.इंदौर =मिनी मुंबई।
.सिवनी =मध्य प्रदेश का लखनऊ।
.बालाघाट =मैगनीज नगरी। 
.कटनी =चूना नगरी। 
.मांडू =आनंद नगरी (सिटी ऑफ़ ज्वाय )
.मालवा =गेंहू का भंडार। 
.ग्वालियर =तानसेन की नगरी। 
. मैहर =संगीत नगरी। 
.भोपाल =झीलों की नगरी। 
.पचमढ़ी =पर्यटकों का स्वर्ग। 
.पीथमपुर =भारत का ड्रेटाइट।
.उज्जैन = मंगल गृह की जन्मभूमि। 
.उज्जैन =पवित्र नगरी। 
.इंदौर = अहिल्या नगरी। 
.ग्वालियर =पूर्व का जिब्राल्टर।
.बुरहानपुर =गंजेड़ियों का स्वर्ग। 
.खंडवा-खरगोन =सुनहरे जिले। 
.मध्य प्रदेश की  गंगा =बेतवा। 
.मालवा की गंगा =  क्षिप्रा।
.सफेद शेर की भूमि =रीवा। 
.इंदौर =कपड़ो का शहर। 
.मांडू =महलों की नगरी।
.धार =भोज नगरी। 

pan style="text-align: right;">----------------------------------------------------------------------
[.मध्य प्रदेश के नगरों/स्थलों की प्रशिद्धि के कारण ]:=

.भोपाल =राजधानी क्षेत्र व झीले। 
.इंदौर =उद्द्योग नगरी /मिनी मुंबई। 
.खजुराहो =कलात्मक मंदिरो के कारण।
.पचमढ़ी =एकमात्र हिल स्टेशन। 
.मलाजखंड =तांबे की खदाने। 
.पन्ना =हीरे की खदाने। 
.साँची =बौद्ध स्तूपों के कारण। 
.मंदसौर =अफीम उत्पादन के कारण। 
.इटारसी =रेलवे जंक्सन। 
.नेपानगर =कागज मिल। 
.भीम बेटका=प्राचीन शैल चित्र। 
.रीवा =सफेद शेर के कारण। 
.सिंगरोली =सबसे मोती कोयला खदान। 
.भेड़ाघाट =संगमरमर की चट्टाने। 
.अमलाई =पेपर मिल। 
.खंडवा =सिंगाजी का मेला। 
.उज्जैन =कुम्भ का मेला व महाकाल का मंदिर। 
.ओम्कारेश्वर =ज्योतिर्लिंग। 
.देवास =बैंक नोट प्रेस। 
.धार =बाघ की गुफाये। 
.बावनगजा =आदिनाथ की विशाल मूर्ति। 
.चंदेरी =किला व सांडियां। 
.मांडू =खूबसूरत महलो के कारण।
. महेश्वर =सांडियो की बनावट के लिए। 
.ग्वालियर =किले मंदिर। 
-----------------------------------------------------------------------


No comments :

Post a Comment